सांसदों को पीएम मोदी ने दी 5 सलाह

नई दिल्ली।संसदीय दल के नेता चुने जाने के बाद नरेंद्र मोदी ने एनडीए के नव-निर्वाचित सांसदों को सेंट्रल हॉल में संबोधित किया। इस दौरन मोदी जी ने कहा कि सासंदों को क्षेत्र की जनता के लिए काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मां के गर्भ में जब बच्चा होता है तो गर्भनाल से उसका जीवन चलता है।सार्वजनिक जीवन में जनप्रतिनिधि और जनता का संबंध उसी गर्भनाल की तरह जुड़ा होना चाहिए। संबोधन के दौरान नरेंद्र मोदी ने अपने सांसदों को मीडिया में कुछ भी बोलने से बचने की सलाह दी है।
1- बीजेपी के बुजर्ग नेता और पार्टी मार्गदर्शक मंडल के नेता लाल कृष्ण आडवाणी की बातों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा, आडवाणी जी कहा करते थे हमें दो चीजों से बचना चाहिए छपास और दिखास, इसका मतलब है कि छपने की लत और दिखने की लत।
सासंदों को सलाह देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जो साथी आए हैं उनसे आग्रह है कि इन चीजों से बचें क्योंकि अब देश माफ नहीं करेगा।हमारे पास जिम्मेदारियां हैं, कुछ लोग आपके पास ऑफ द रिकॉर्ड बात करने आते हैं लेकिन एक चीज याद रखिए।दुनिया में कुछ भी चीज ऑफ द रिकॉर्ड नहीं होती है।
2- सांसदों को सलाह देते हुए कहा है कि 2014-19 के कार्यकाल में हम चर्चा में इसलिए नहीं रहे कि कुछ गलत किया। लेकिन अगर किसी ने मसाला दिया तो हमने दिया।लेकिन टीवी के लिए उस माईक में पता नहीं क्या ताकत होती है कि उसे देखते ही कुछ भी बोल बैठते हैं।कुछ लोगों को मैंने देखा कि सुबह उठकर राष्ट्र के नाम संदेश नहीं देते हैं उन्हें चैन नहीं पड़ता। मीडिया वालों को भी पता है कि इन लोगों के घर के बाहर जाएंगे तो कुछ ना कुछ मिलेगा। मैं आज न्यूट्रल होकर कहूंगा कि कुछ भी कहने से बचें।
3- इस दौरान पीएम मोदी ने वीआईपी कल्चर को लेकर भी बात कही वीआईपी कल्चर।देश को इस कल्चर से बेहद नफरत है।हो सकता है कि आपके अंदर यह भाव आ जाए कि मेरी चेकिंग अब क्यों हो, मैं लाइन में क्यों लगूं।लेकिन आप भी नागरिक हैं लाइन क्यों नहीं लगेंगे।आज कल लोग कैमरे से फोटो निकाल लेते हैं फिर बाद में सोशल मीडिया पर आ जाता है। फिर आप देखते हैं कि किसने किया क्यों किया लेकिन तब तक कुछ नहीं हो सकता। लाल बत्ती हटाने के पीछे कोई बड़ी वजह नहीं थी।लेकिन इससे देश में एक संदेश मिला था।
4- एनडीए संसदीय दल के नेता के तौर पर चुने जाने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- नए लोगों के साथ एक और दिक्कत होगी कि अभी तक आपको हो सकता है कि कोई ना पहचानता हो। लेकिन अभी आप दिल्ली आएंगे तो हो सकता है कि गाड़ी लिए लोग मिलें आपकी सेवा करने की कोशिश करें। लेकिन इस सेवा भाव के चक्कर में आपका नुकसान हो सकता है। हो सकता है कि पुराना एमपी आपसे कहे कि यह अच्छा आदमी है मेरा काम करता रहा है आपका भी करेगा।आप इस पर भी भरोसा ना करें। आप अपने क्षेत्र से अपने अनुभव के आधार पर लोगो को चुने।
5- पांचवी सलाह मे नरेंद्र मोदी ने कहा, दुनिया के कई नेताओं से पिछले तीन दिन में बात करने के बाद मैं बता सकता हूं ।कि दुनिया को भारत से बहुत अपेक्षाएं हैं। विश्व की अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए खुद समर्थ बनाना वसुदैव कुटुंबकम का हिस्सा है। लोकतांत्रिक शक्ति के लिए भारत बहुत महत्वपूर्ण है।मुझे विश्वास है कि दुनिया जिन सपनों के साथ हमसे अपेक्षा करती है उसे हम पूरा करेंगे।आप सबने मुझे दायित्व दिया है लेकिन ये कोई कॉन्ट्रेक्ट नहीं है। ये हमारी संयुक्त जिम्मेदारी है अगर कोई चोट पहुंचेगी तो उसके लिए मैं हूं और आपको सफलता का श्रेय लेना है। भारत माता से बड़ी हमारे लिए कोई ईष्ट देवता नहीं हो सकता है।

Author: NewsQues Team

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *