बलिदान देने वाले वीर सपूतों को नम आंखों से आखिरी विदाई दे रहा है देश

Facebook
Google+
https://newsquesindia.com/%E0%A4%AC%E0%A4%B2%E0%A4%BF%E0%A4%A6%E0%A4%BE%E0%A4%A8-%E0%A4%A6%E0%A5%87%E0%A4%A8%E0%A5%87-%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%B2%E0%A5%87-%E0%A4%B5%E0%A5%80%E0%A4%B0-%E0%A4%B8%E0%A4%AA%E0%A5%82%E0%A4%A4">
Twitter
YOUTUBE
PINTEREST
LinkedIn
INSTAGRAM
SOCIALICON

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में सोमवार रात गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के एक कर्नल सहित 20 सैनिक शहीद हो गए। इस घटना के बाद पूरे देश में शोक की लहर है। हर तरफ से चीन को मुहतोड़ जवाब देने की मांग की जा रही है। पूरा देश राष्ट्र की सेवा में सर्वोच्च बलिदान देने के लिए श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है।
20 जवानों के बलिदान पर प्रधानमंत्री मोदी ने दिलाया देश को भरोसा,और कहा हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। 19 जून को करेंगे सर्वदलीय बैठक- भारत और चीन के सैनिकों के बीच लद्दाख की गलवान घाटी में हुई झड़प के बाद बुधवार को पीएम मोदी ने अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा, जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। देश की संप्रभुता सर्वोच्च है। देश की सुरक्षा करने से हमें कोई भी रोक नहीं सकता है। इस बारे में किसी को भी जरा भी भ्रम या संदेह नहीं होना चाहिए।
प्रधानमंत्री ने आगे कहा,कि भारत शांति चाहता है, लेकिन भारत उकसाने पर हर हाल में यथोचित जवाब देने में सक्षम में है। हमारे दिवंगत शहीद वीर जवानों के विषय में देश को इस बात का गर्व होगा कि वे मारते-मारते मरे हैं। मेरा आप सभी से, सभी मुख्यमंत्रियों से आग्रह है कि हम खड़े होकर दो मिनट मौन रखकर इन वीर सपूतों काे पहले श्रद्धांजलि देंगे। फिर मीटिंग को आगे बढ़ाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 जून को इस मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक बुलाई है।
1-कर्नल संतोष बाबू- तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद स्थित उनके घर पार्थिव शरीर भेजा जाएगा।अंतिम संस्कार आज होगा।
 2-हवलदार के. पलनी- तमिलनाडु के रामनाथपुरम जिले के Kadukkaloor गांव के रहने वाले थे। अंतिम संस्कार आज होगा।
3-हवलदार सुनील कुमार- बिहार के पटना जिले के बिहटा के पास तारानगर गांव में परिवार रहता है। अंतिम संस्कार आज होगा।
4- सिपाही चंदन कुमार- बिहार के भोजपुर जिले के ज्ञानपुरा गांव के रहने वाले थे।
5- सिपाही अमन कुमार- बिहार के समस्तीपुर के सुल्तानपुरपुरब गांव के रहने वाले थे।
6- सिपाही जयकिशोर सिंह- बिहार के वैशाली जिले के चाकाफाथ गांव के रहने वाले थे।
7-सिपाही कुंदन कुमार- बिहार के सहरसा जिले के आरन गांव के रहने वाले थे।
 8-नायब सूबेदार/AIG मनदीप सिंह- पंजाब के पटियाला जिले के सील गांव के रहने वाले थे।
 9-नायब सूबेदार (ड्राइवर)– पंजाब के गुरदासपुर के Vhoj-raj के रहने वाले थे।
 10-सिपाही गुरबिंदर- पंजाब के संगरुर जिले के तोतावाल गांव के रहने वाले थे।
 11-सिपाही गुरतेज- पंजाब के मानसा जिले के Birewala Dagon गांव के रहने वाले थे।
 12- सिपाही राजेश ओरांग- पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के बेलगोरिया गांव के रहने वाले थे।
 13-हवलदार बिपुल रॉय- पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी के बिंदीपाडा गांव के रहने वाले थे। पत्नी और 5 साल की बेटी मेरठ में रहते हैं।
14-सिपाही कुंदन कुमार ओझा- झारखंड के साहिबगंज जिले के दिहारी गांव के रहने वाले थे।
 15-सिपाही गणेश हांदसा- झारखंड के पूर्वी सिंघभूम जिले के कशाफलिया गांव के रहने वाले थे।
 16-सिपाही चंद्रकांत प्रधान- ओडिशा के कंधमाल जिले के BeariPanga गांव के रहने वाल थे।
 17-नायब सूबेदार नुंदुराम सोरेन- ओडिशा के मयूरभंज जिले के Badachampauda गांव रहने वाले थे।
18-सिपाही गणेश राम- छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के गिडहाली गांव के रहने वाले थे।
 19-सिपाही अंकुश- हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के करोहटा गांव के रहने वाले थे।
 20-नायक (NA) दीपक सिंह- मध्य प्रदेश के रीवा जिले के फरांदा गांव के रहने वाले थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *