पीएम मोदी ने फोर डी फैक्टर से ग्रोथ के बारे में बताया और निवेशको को भारत आने का मौका दिया

Facebook
Google+
https://newsquesindia.com/%E0%A4%AA%E0%A5%80%E0%A4%8F%E0%A4%AE-%E0%A4%AE%E0%A5%8B%E0%A4%A6%E0%A5%80-%E0%A4%A8%E0%A5%87-%E0%A4%AB%E0%A5%8B%E0%A4%B0-%E0%A4%A1%E0%A5%80-%E0%A4%AB%E0%A5%88%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%9F%E0%A4%B0">
Twitter
YOUTUBE
PINTEREST
LinkedIn
INSTAGRAM
SOCIALICON

नई दिल्ली। प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमेरिका में बिजनेस लीडर्स को संबोधित करते हुए कहा कि भारत के विकास और अर्थिक सुधारो के बारे में बताया।भारत के विकास के लिए पीएम मोदी ने ने 4 फैक्टरों के बारे में बताया और कहा कि डेमॉक्रेसी,डेमॉग्राफी,डिमांड और डिसाइसिवनेस के चलते हम तेजी से आगे बढ़ रहे हैं।उनहोंने बताया कि भारत का लोकतंत्र,आकांक्षी मध्य वर्ग बढ़ती मांग और सरकार की निर्णायक क्षमता ने ग्रोथ की रफ्तार को बहुत तेजी से आगे की ओर बढ़ाया है।
पीएम मोदी ने ब्लूम्बर्ग बिजनेस समिट में कहा कि हम ऐसी सरकार है जो वेल्थ क्रिएशन और बिजनेस कम्युनिटी का सम्मान करती हैं।हमने कॉर्पोरेट टैक्स कम करने का क्रान्तीकारी फैसला लिया है।सभी विजनेस डीलर्स इसे ऐतिहसिक कहते हैं।
निवेश बढ़ाने के लिए एक के बाद एक कई फैसलों का ऐलान सरकार की ओर से किया गया है उन्होंने कहा कि नई सरकार के गठन के बाद 50से ज्यादा ऐसे कानूनों को हमने समाप्त कर दिया है जो बाधा उत्पन्न कर रहे थे अब नई सरकार को लगभग 3से 4महिने हुए है।मैं कहूंगा कि यह शुरुआत है।अभी काफी लम्बा समय बाकी है।भारत के साथ साझेदारी के लिये यह दुनिया के सामने सुनहरा मौका है।
दुनिया भर से निवेशकों से भारत आने के अह्हान करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमारा मिडिल क्लास आकाक्षी है।और ग्लोबल द्रष्टि कोण वाला है।इसलिए यदि आप नये ट्रेश के साथ निवेश करना चाहते है।तो फिर भारत आइए।हमारा यूथ ऐप इकॉनमी का सबसे बड़ा यूजर है।अगर आप बड़े मर्केट में निवेश करना चाहते हैं तो भारत आइए।
साथ ही साथ उन्होनें इन्फ्रास्ट्रक्टर शहरी विकास और मेक इन इण्डिया में निवेश के लिये भी बिजनेस कम्युनिटी को आमंत्रित किया।मोदी जी ने कहा कि भारत पर हमारी इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास पर हमारी सरकार जितना निवेश कर रही है।उतना कभी नहीं किया गया आने बाले समय में हम 100 लाख करोड़ रुपए अधूनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर पर हम खर्च करने जा रहे हैं।उन्होंने बताया कि भारत ने 5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बनाने का लक्ष्य रखा गया है।2014 में यह 2 ट्रिलियन डॉलर के करीब थी।बीते 5 सालों में हमने इससे एक ट्रिलियन जोड़ा है और अब कमर कसकर 5 ट्रिलियन के लिए काम कर रहे हैं।इस टारगेट के लिये हमारे पास क्षमता स्थिति और इच्छा शक्ति हमारे पास है।

संवाददाता-अंजू राना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *