गुरु तेग बहादुर 24 नवंबर आज के दिन ही शहीद हुए

Facebook
Google+
https://newsquesindia.com/%E0%A4%97%E0%A5%81%E0%A4%B0%E0%A5%81-%E0%A4%A4%E0%A5%87%E0%A4%97-%E0%A4%AC%E0%A4%B9%E0%A4%BE%E0%A4%A6%E0%A5%81%E0%A4%B0-24-%E0%A4%A8%E0%A4%B5%E0%A4%82%E0%A4%AC%E0%A4%B0-%E0%A4%86%E0%A4%9C-%E0%A4%95">
Twitter
LinkedIn
INSTAGRAM
SOCIALICON

नई दिल्ली। देश के इतिहास में कुछ जाबंज ऐसे भी हुए हैं।जो धर्म की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व बलिदान करने से भी पीछे नहीं हटे। सिखों के नौवें गुरू तेग बहादुर भी ऐसे ही साहसी योद्धा थे,जिन्होंने न सिर्फ सिक्खी का परचम ऊंचा किया। बल्कि अपने सर्वोच्च बलिदान से हिंदू धर्म की भी हिफाजत की। उन्होंने मुगल बादशाह औरंगजेब की तमाम कोशिशों के बावजूद इस्लाम धर्म धारण नहीं किया और तमाम जुल्मों का पूरी दृढ़ता से सामना किया। गुरू तेग बहादुर के धैर्य और संयम से आग बबूला हुए औरंगजेब ने चांदनी चौक पर उनका शीश काटने का हुक्म जारी कर दिया, और वह 24 नवंबर 1675 का दिन था,जब गुरू तेग बहादुर ने धर्म की रक्षा के लिए अपना बलिदान दिया। उनके अनुयाइयों ने उनके शहीदी स्थल पर एक गुरूद्वारा बनाया। जिसे आज गुरूद्वारा शीश गंज साहब के तौर पर जाना जाता है।

1675 मुगल बादशाह औरंगजेब के आदेश पर सिक्खों के नौवें गुरू तेग बहादुर को चांदनी चौक पर शहीद कर दिया गया।
1859 चार्ल्स डार्विन की‘आन द ओरिजिन आफ स्पेशीज’ का प्रकाशन।
1874 अमेरिका के खोजकर्ता जोसेफ फरवेल ग्लिडन ने वाणिज्यिक रूप से सफल कांटेदार तार का पेटेंट हासिल किया।
1963 अमेरिका के राष्ट्रपति जॉन एफ कैनेडी की हत्या करने वाले व्यक्ति की हत्या। हमलावर ने डलास थाने में उसे बहुत करीब से गोली मारी।
1999 भारत की कुंजुरानी देवी ने एथेंस में विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप में रजत पदक जीतकर बड़ी उपलब्धि हासिल की।
2001 तुर्की की ग्रैंड नेशनल एसेम्बली ने देश के कानून में बदलाव करके महिलाओं को कानूनी तौर पर पुरूषों के बराबर ला खड़ा किया।
2006 पाकिस्तान और चीन ने एक मुक्त व्यापार क्षेत्र संधि पर हस्ताक्षर किये तथा अवाक्स बनाने पर भी सहमति हुई।
2007 पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ़ आठ वर्षों के निर्वासन के बाद स्वदेश लौटे।
2018 भारतीय महिला मुक्केबाजी की सुपरस्टार एम सी मेरीकाम ने दसवीं महिला विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में सवर्ण पदक जीता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *