कोरोना के नए स्ट्रेन से हाहाकार मचा, केंद्र से केजरीवाल की अपील तुरंत रोकें ब्रिटेन से आने वाली सभी फ्लाइट्स

Facebook
Google+
https://newsquesindia.com/%E0%A4%95%E0%A5%8B%E0%A4%B0%E0%A5%8B%E0%A4%A8%E0%A4%BE-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%A8%E0%A4%8F-%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%9F%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%87%E0%A4%A8-%E0%A4%B8%E0%A5%87-%E0%A4%B9%E0%A4%BE">
Twitter
YOUTUBE
PINTEREST
LinkedIn
INSTAGRAM
SOCIALICON

नई दिल्ली।दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से अपील की है कि ब्रिटेन से आने वाली सभी फ्लाइट्स पर तुरंत रोक लगाई जाए। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने यह ट्वीट ब्रिटेन में कोरोना का नया स्ट्रेन सामने आने के बाद किया है। इस नए स्ट्रेन को सुपर स्प्रेडर माना जा रहा है।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया,यूके में कोरोना के नए म्यूटेशन का पता चला है जो कि सुपर स्प्रेडर है। मैं केंद्र सरकार से अपील करता हूं कि यूके से आने वाली सभी फ्लाइट्स पर तुरंत रोक लगाई जाए। ब्रिटेन में कोरोना वायरस के एक नए प्रकार से संक्रमण की दर अचानक से बढ़ गई है। जिसे देखते हुए रविवार से सख्त पाबंदियों के साथ लॉकडाउन लागू किया गया है। फिलहाल अचानक से बढ़ी कोरोना संक्रमण की दर के कारण बेल्जियम और नीदरलैंड ने रविवार को यूके से उड़ानें निलंबित कर दीं है।
70 प्रतिशत तेजी से फैल रहा नया स्ट्रेनः बोरिस जॉनसन
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का कहना है कि कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन पहले के मुकाबले 70 प्रतिशत ज्यादा तेजी से फैल रहा है। वहीं स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार कोरोना संक्रमण की दर नियंत्रण से बाहर हो रही है। हालांकि अभी इस बात का पता नहीं लगाया जा सका है कि कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन पहले से ज्यादा खतरनाक है या नहीं और हाल ही में जारी हुई कोरोना वैक्सीन इस पर आसरदार होगी या नहीं। फिलहाल नीदरलैंड,डेनमार्क,ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका में भी कोरोना वायरस के तेजी से फैल रहे नए स्ट्रेन का पता चला है।
यूनाइटेड किंगडम के केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने नए स्ट्रेन पर चर्चा करने के लिए सोमवार को अपने संयुक्त निगरानी समूह की तत्काल बैठक बुलाई है। यूके में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के कारण वहां संक्रमण दर में वृद्धि हुई है। ब्रिटिश स्वास्थ्य सचिव मैट हैनकॉक ने रविवार को कहा कि कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन नियंत्रण से बाहर है इसलिए सरकार ने लंदन और दक्षिण-पूर्व इंग्लैंड में एक सख्त क्रिसमस लॉकडाउन लगाया है। इसके चलते यूरोपीय देशों ने यूनाइटेड किंगडम के यात्रियों के लिए अपनी सीमाओं को बंद करना शुरू कर दिया है।
वैक्सीन से मिल सकती है मदद
हैनकॉक ने चेतावनी दी कि कोरोना वैक्सीन के पूरी तरह से प्रभावी साबित होने तक इंग्लैंड की आबादी के लगभग एक तिहाई हिस्से को प्रभावित करने वाले सख्त नियम तब तक बने रह सकते हैं। हैनकॉक ने स्काई न्यूज को बताया कोरोना के नए स्ट्रेन के सामने आने के बाद घर पर बने रहने का आदेश सही है। क्रिसमस पर परिवारिक समारोहों पर प्रतिबंध और गैर-आवश्यक दुकानों को बंद करने के लिए कहा गया है। दुर्भाग्य से नया स्ट्रेन नियंत्रण से बाहर है। हमको इसे नियंत्रण में रखना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *