कुमाऊं में 28 और 29 जुलाई को भारी बारिश मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

Facebook
Google+
https://newsquesindia.com/%E0%A4%95%E0%A5%81%E0%A4%AE%E0%A4%BE%E0%A4%8A%E0%A4%82-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82-28-%E0%A4%94%E0%A4%B0-29-%E0%A4%9C%E0%A5%81%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%88-%E0%A4%95%E0%A5%8B-%E0%A4%AD%E0%A4%BE%E0%A4%B0">
Twitter
YOUTUBE
PINTEREST
LinkedIn
INSTAGRAM
SOCIALICON

नई दिल्ली। उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश ने लोगों की मुसीबतें बढ़ा दी हैं। भारी बारिश की वजह से कई सड़क मार्ग बंद हैं तो कई जगहों पर लगातार लैंड स्लाइड की घटनाएं हो रही हैं। एक बार फिर से मौसम विभाग ने 28 और 29 जुलाई को कुमाऊं क्षेत्र में भारी से भारी बारिश का अलर्ट भी जारी कर दिया है। कुमाऊं के पिथौरागढ़,बागेश्वर, नैनीताल,चम्पावत और ऊधमसिंह नगर जिले में मौसम विभाग ने भारी बारिश की संभावना जताई है। इतना ही नहीं अगले 8 दिनों तक पूरे प्रदेश में बारिश की संभावना बनी हुई है।
मौसम विभाग के निदेशक विक्रम सिंह के मुताबिक कुमाऊं के साथ-साथ गढ़वाल में भी अच्छी बारिश देखने को मिलेगी। साथ ही देहरादून,चमोली,रूद्रप्रयाग जिलों में भी भारी बारिश होने के आसार बने हुए हैं। मौसम विभाग से मिले अलर्ट के बाद जिला प्रशासन और आपदा प्रबंधन भी अलर्ट मोड पर है।मौसम विभाग ने लोगों को भी इस दौरान सतर्क रहने की सलाह दी है।
आपको बता दें कि प्रदेश में लगातार हो रही बारिश लोगों के लिए मुसीबत बन गई है। नदियां उफान पर हैं।ऐसे में प्रशासन का दावा है कि वो बारिश के दौरान किसी भी आपदा से निपटने के लिए तैयार है। इसी को देखते हुए गढ़वाल कमिश्नर ने मानसून सीजन में सभी फील्ड कर्मियों की छुट्टियां भी रद कर दी हैं। सभी फील्ड अधिकारियों और कर्मचारियों को कहा गया है की वो लगातार फील्ड में जाएं और डिस्ट्रक्ट कंट्रोल रूम के संपर्क में रहें।
हाल ही में गढ़वाल कमिशनर रविनाथ रमन ने बताया था कि पिछले साल मानसून के सीजन में कई इलाकों में बादल फटने जैसी समस्याओं के साथ ही कई प्राकृतिक आपदाएं आईं थीं। इन आपदाओं की वजह से काफी नुकसान भी हुआ था। कमिश्नर ने कहा था कि बारिश को देखते हुए उत्तराखंड के सभी जिलों में आपदा जैसे हालात से निपटने के लिए पर्याप्त धन और संसाधन उपलब्ध है। इसके साथ ही सभी फील्ड कर्मियों को अलर्ट रहने के निर्देश जारी किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *