उडिशा और पश्चिम बंगाल में 17 फीसदी से भी ज्यादा बढ़ा बीजेपी वोट शेयर इन राज्यों से भी बड़ा फायदा हुआ

17वें लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी की अगुवाई में भारतीय जनता पार्टी अपनी अब तक की सबसे बड़ी जीत दर्ज करने में कामयाब हुई है। 2014 में पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने वाली बीजेपी के खाते में 21 सीटों का बड़ोतरी हुई है। और पहली बार उसने सीटों के लिहाज से 300 का आंकड़ा पार किया है। बीजेपी की इस जीत में उसे 2014 में सत्ता तक लाने वाले राज्यों का योगदान तो है ही, साथ में अब उसकी पहुंच बंगाल और ओडिशा जैसे राज्यों में भी हो गई है।इसके अलावा कुछ और राज्यों में बीजेपी के वोट शेयर में बड़ा बड़ोतरी देखने को मिली है।
लोकसभा चुनाव से पहले ही कयास बीजेपी के पश्चिम बंगाल में बेहतर प्रदर्शन करने के कयास लगाए जा रहे थे। नतीजे आने पर जब बीजेपी बंगाल में 18 सीटो को जीतने में कामयाब रही तो इन कयासों पर मुहर लग गई। 2014 में बीजेपी करीब 16 फीसदी वोट शेयर के साथ बंगाल में सिर्फ दो सीटों पर जीत दर्ज कर पाई थी। 2019 आते आते बीजेपी टीएमसी के बाद सबसे बड़ी पार्टी बन गई और 42 में से 18 सीटों पर जीत दर्ज करने में कामयाब हुई।बीजेपी का वोट शेयर बंगाल में 40.3 फीसदी तक पहुंच गया है।वहीं 22 सीटें जीतने वाली टीएमसी को 43.30 फीसदी वोट मिले।
2019 में बीजेपी के सामने सबसे बड़ी चुनौती के तौर पर उत्तर प्रदेश ही था। क्योंकि माना जा रहा था कि एसपी-बीएसपी के गठबंधन से बीजेपी को नुकसान उठाना पड़ सकता है। बीजेपी को 9 सीटों का नुकसान उठाना भी पड़ा और वह 2014 की 71 सीटों के मुकाबले 62 सीटें ही जीत पाई।लेकिन उसके बावजूद बीजेपी राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आई।
बीजेपी को 2014 में 42.63 फीसदी वोट मिले थे।वहीं 2019 में बीजेपी का वोट शेयर 49.59 फीसदी तक पहुंच गया। बीजेपी के मुकाबले एसपी-बीएसपी को वोट शेयर के मामले में नुकसान का सामना करना पड़ा।बीएसपी का वोट 19.77 से घटकर 19.26 फीसदी पर पहुंच गया। एसपी सबसे ज्यादा नुकसान में रही और उसे 2014 में 22.35 फीसदी वोट शेयर के मुकाबले 17.96 वोट ही मिले।
मध्य प्रदेश में सरकार होने के बावजूद कांग्रेस पार्टी राज्य की सिर्फ एक सीट पर दर्ज कर पाई। 28 सीटें जीतने वाली बीजेपी राज्य में 3.24 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 58 फीसदी वोट पाने में कामयाब रही।
बीजेपी ने 2014 की तरह 2019 में भी गुजरात की सभी 26 सीटों पर जीत दर्ज की।बीजेपी को 2014 में 60.1 फीसदी वोट मिले थे। 2019 में बीजेपी करीब 2 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 62.2 फीसदी वोट पाने में सफल रही।
2014 में हरियाणा में बीजेपी को 7 सीटें मिली थी, जबकि 17वें लोकसभा चुनाव में बीजेपी राज्य की सभी 10 सीटों पर जीत दर्ज करने में कामयाब हुई। 2014 के मुकाबले बीजेपी के वोट शेयर में बड़ी बढ़ोतरी हुई है और उसे 34 फीसदी के मुकाबले इस बार 58.02 फीसदी वोट मिले हैंबंगाल के अलावा ओडिशा में बीजेपी के वोट शेयर में बड़ा इजाफा देखने को मिला है। बीजेपी इस बार 1 के मुकाबले 8 सीटें जीती है। बीजेपी को 2014 में 21.50 फीसदी वोट मिले थे।2019 में बीजेपी 38.4 फीसदी वोट हासिल करने में कामयाब रही।

Author: NewsQues Team

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *