अनुसूचित जाति / जनजाति/ पिछड़ी जाति अधिकारी कर्मचारी महासंघ व आदिवासी मीना सेवा संघ ने विश्व आदिवासी दिवस मनाया

Facebook
Google+
https://newsquesindia.com/%E0%A4%85%E0%A4%A8%E0%A5%81%E0%A4%B8%E0%A5%82%E0%A4%9A%E0%A4%BF%E0%A4%A4-%E0%A4%9C%E0%A4%BE%E0%A4%A4%E0%A4%BF-%E0%A4%9C%E0%A4%A8%E0%A4%9C%E0%A4%BE%E0%A4%A4%E0%A4%BF-%E0%A4%AA%E0%A4%BF%E0%A4%9B">
Twitter
YOUTUBE
PINTEREST
LinkedIn
INSTAGRAM
SOCIALICON

अनुसूचित जाति / जनजाति/ पिछड़ी जाति अधिकारी कर्मचारी महासंघ व आदिवासी मीना सेवा संघ ने विश्व आदिवासी दिवस पर जिला स्तर पर किये कई कार्यक्रम

विश्व आदिवासी दिवस पर SC/ST/OBC महासंघ के तत्वाधान में प्रातः 9 बजे सोमनाथ नगर गणेशपुरा रोड स्थित मीन भगवान मंदिर में आदिवासी मीना सेवा संघ के जिलाध्यक्ष व भामाशाह केदार प्रसाद मीना द्वारा प्रतिमा के समक्ष दीपक जलाकर पुष्प , लड्डू ,बेल पत्र, धूप के माध्यम से पूजा अर्चना की गई। मीन भगवान की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया , भगवान की झांकी सजाई गई ।
प्रातः 10:30 बजे श्री मीन भगवान प्रांगण में प्रकृति की धरोहर के रूप में पौधरोपण कार्यक्रम किया गया। इस अवसर पर प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष धर्मपाल मीना ने कहा कि राजस्थान प्रदेश में पूर्वी राजस्थान के आदिवासियों के साथ सरकारों ने सौतेला व्यवहार किया है , सरकारें चाहें कांग्रेस की रही हो या भारतीय जनता पार्टी की हो पूर्वी आंचल के आदिवासियों को आगे बढ़ाने की बजाय पीछे धकेलने में कोई कसर नहीं छोड़ी , अनुसूचित जाति जनजाति की सूची में नवे (9) नंबर पर मीना अंकित है लेकिन इस क्षेत्र में कार्यरत ब्यूरोक्रेसी जिसने प्रमाण पत्र जारी किए है उसने हमारे उपनाम मीणा को ही जाति वाले कॉलम में लिखा और सरकारों ने कुछ आरक्षण विरोधी ताकतों के सहयोग से मीना – मीणा मुद्दा बनाया जिसका श्रेय श्रीमान गहलोत जादूगर को जाता है जबकि एक सीधा सा समाधान है कि जाति वाले कॉलम में मीना ही लिखे और गलत लिख भी दिया है तो सही कर दें पर सरकार इस मांग को पिछले एक दशक से अटका रही है, सरकारों ने एक मां बाप के दो जाति की संताने पैदा कर दी है , जबकि प्राकृतिक तौर पर ऐसा संभव नहीं है अतः हम सरकार से मांग करते है प्रमाण पत्रों का शुद्धिकरण अभियान चला कर मीना – मीणा विवाद समाप्त करें ।
इस अवसर पर महासंघ जिला अध्यक्ष कैलाश चंद मीना ने कहा कि पूर्वी राजस्थान के अधिकारी कर्मचारियों को दोनों ही सरकारें नीति निर्धारक स्थानों पर जैसे निदेशालयों , जिला मुख्यालयों के कार्यालयों , सचिवालय में नियुक्त नहीं करती जिससे हमारे हित के आदेश है लागू नहीं होते है ।
जिला प्रवक्ता डॉ. रतिराम मीना ने कहा कि राजस्थान में पहली बार राज्य अवकाश घोषित किया है जिसके लिए हमारे दौसा विधायक मुरारी लाल मीना ने विधानसभा में मुद्दा रखा ।
विश्व आदिवासी दिवस पर हालांकि विभिन्न संघटनों द्वारा कार्यक्रम आयोजित किए लेकिन 2019 का कार्यक्रम जैसा कार्यक्रम आयोजित नहीं हो पाया जिसमें कोविड-19 के साथ साथ स्थानीय विधायक श्री मुरारीलाल मीना व राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ी लाल मीना की कमी महसूस हुई ।
अधिकारी कर्मचारी शाम 7:30 बजे दीप जलाकर कार्यक्रम का आनंद ले रहे है   क्योकि आज पहली बार राजस्थान में अवकाश घोषित हुआ यद्यपि आज रविवार का  दिन है लेकिन आज आदिवासी मीना समाज के सभी लोगो में विशेष उत्साह है। इस अवसर पर सामाजिक दूरी रखते हुए , 5-5 सदस्यों का अलग अलग समूह बनाकर, मास्क पहनकर , गमछा लपेट कर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया ।
पूजा अर्चना में भामाशाह केदार प्रसाद मीना , धर्मपाल मीना , कैलाश चंद मीना , देवी सहाय मीना , डॉ. निर्मल कुमार मीना
वृक्षारोपण कार्यक्रम में केदार प्रसाद मीना , धर्मपाल मीना, शम्भू दयाल मीना, राधा किशन मीना , भरत लाल बैरवा, राजेन्द्र प्रसाद बैरवा शामिल रहे ।
दीपदान कार्यक्रम में धनसी राम बैरवा, कल्याण सहाय मीना, रामनिवास मीना , गोकुल बैंदाडा ,जगजीवन एडवोकेट शामिल रहे ।
राजस्थान के आजादी के 73 वर्ष बाद भी मेडिकल कॉलेज नहीं है , AIIMS जैसा अस्पताल नहीं है , कोई विश्वविद्यालय दौसा,सवाई माधोपुर, करौली में नहीं है, कोई बड़ा औद्योगिक क्षेत्र नहीं है , सिंचाई के लिए कोई नहर परियोजना नहीं है ,पूर्वी राजस्थान के आदिवासी समाज के लिए सिर्फ सरकारी नौकरी में आरक्षण है जिसे अब समाप्त किया जा रहा है क्युकी टी एस पी (TSP) के नाम पर छलावा हो रहा है ।

केदार प्रसाद मीना जिला अध्यक्ष – आदिवासी मीना सेवा संघ,धर्मपाल मीना प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष,कैलाश चंद मीना जिला अध्यक्ष महासंघ,भरतलाल बैरवा महासचिव तथा महासंघ के पदाधिकारी एवं अन्य सदस्य उपस्थित रहे

NewsQues India is Bilingual Indian daily e- Magazine. It is published in New Delhi by NewsQues India Group. The tagline of NewsQues India is " Read News, Ask Questions".

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *